[Solved] RPSC College Lecture Hindi Question Paper -1 2014 - MCQ PRATIYOGITA TODAY

[Solved] RPSC College Lecture Hindi Question Paper -1 2014

RPSC College Lecture Hindi Paper -1 Solved Question Paper 2014-16

RPSC Exam hold on 05 July 2016. College Lecture Hindi Exam hold on 05 July 2016. RPSC Assistant Professor (College Cader) solved Question Paper. RPSC Hindi Previous Year Solved Question Paper. RPSC Previous Year Question Paper.

इस आर्टिकल में राजस्थान लोक सेवा आयोग कॉलेज व्याख्याता हिंदी साहित्य 2014 का प्रथम पेपर का हल प्रश्न पत्र (solved Question Paper) दिया गया है। यह परीक्षा 05 जुलाई 2016 को आयोजित की गई थी।

RPSC College Lecture Hindi Paper -1 Solved Question Paper 2014-16.

Total Question - 150

हिन्दी साहित्य/Hindi Literature/First Paper

Q. 01. अपभ्रंश की उत्तरकालीन अवस्था का नाम है ?
(अ) संस्कृत                                     (ब) प्राकृत
(स) पाली                                        (द) अवहट्ट

 

Q. 02. सिंधी भाषा का जन्म किस अपभ्रंश से हुआ ?
(अ) शौरसेनी अपभ्रंश से
(ब) मागधी अपभ्रंश से
(स) अर्धमागधी अपभ्रंश से
(द) ब्राचड अपभ्रंश से

 

Q. 03. चंद्रधर शर्मा गुलेरी ने साहित्यिक अपभ्रंश को किस नाम से पुकारा है ?
(अ) अवहट्ट                                (ब) पुरानी हिंदी
(स) अपभ्रंश                               (द) देसी भाषा

 

Q. 04. निम्नलिखित में से कौन सी रचना अपभ्रंश की नहीं है ?
(अ) पउम चरिउ                           (ब) पाहुड़ दोहा
(स) भविसयत्त कहा                     (द) चित्रावली

 

Q. 05. संविधान के किस अनुच्छेद में संघ की राजभाषा के रूप में हिंदी और देवनागरी लिपि को मान्यता दी गई है ?
(अ) 373                                           (ब) 347
(स) 343                                           (द) 350

 

Q. 06. निम्नलिखित में से मानक हिन्दी का आदर्श एवं मानक क्षेत्र है ?
(अ) हरियाणा                                 (ब) मेरठ
(स) दिल्ली                                    (द) हिमाचल प्रदेश

 

Q. 07. निम्नलिखित में से कौन अवधी भाषा का कभी नहीं है ?
(अ) जायसी
(ब) कुतुबन
(स) उस्मान
(द) नंददास

 

Q. 08. डॉ ग्रियर्सन ने किस भाषा को अंतर्वेदी का नाम दिया है ?
(अ) राजस्थानी                                 (ब) ब्रजभाषा
(स) अवधी                                      (द) छत्तीसगढ़ी

 

Q. 09. हिंदी और उर्दू के बीच की सरल भाषा कहलाती है ?
(अ) हिंदुस्तानी
(ब) हिंदुई
(स) रेख़्ता
(द) दक्खिन

 

Q. 10. दक्षिणी राजस्थान की प्रतिनिधि बोली है ?
(अ) मारवाड़ी                                       (ब) मेवाती
(स) मालवी                                         (द) हाडौती

 

Q. 11. निम्नलिखित में से पश्चिमी हिंदी की बोली कौनसी नहीं है ?
(अ) खड़ी बोली                             (ब) बृजभाषा
(स) कन्नौजी                                 (द) बघेली

 

Q. 12. अपभ्रंश एवं ब्रजभाषा के योग से कौन सी भाषा बनती है ?
(अ) पिंगल                                     (ब) डिंगल
(स) अवधि                                      (द) अवहट्ट

 

Q. 13. निम्न में से कौन सा हाड़ोती बोली का क्षेत्र नहीं है ?
(अ) कोटा                                    (ब) बूंदी
(स) धौलपुर                                (द) झालावाड़

 

Q. 14. कौरवी का संबंध किससे है ?
(अ) पश्चिमी हिंदी                              (ब) पूर्वी हिंदी
(स) राजस्थानी                                  (द) बिहारी

 

Q. 15. देवनागरी लिपि का विकास किस प्राचीन लिपि से हुआ ?
(अ) किलाक्षर                                    (ब) खरोष्ठी
(स) कुटिल                                       (द) रोमन

 

Q. 16. "काव्य आत्मा की संकल्पात्मक अनुभूति है जिसका संबंध विश्लेषण, विकल्प या विज्ञान से नहीं है। वह एक श्रेयमयी प्रेय रचनात्मक ज्ञानधारा है।" यह कथन किसका है ?
(अ) महादेवी वर्मा                        (ब) जयशंकर प्रसाद
(स) आचार्य रामचंद्र शुक्ल             (द) डॉ नगेंद्र

 

Q. 17. "काव्यशोभाकरान् धर्मांन् अंलकारान् - प्रच्क्षते।" उक्त कथन किसका है -
(अ) भामह                                       (ब) मम्मट
(स) दंडी                                         (द) वामन

 

Q. 18. 'ध्वन्यालोक' ग्रंथ के रचयिता हैं ?
(अ) वामन                                    (ब) आनंदवर्धन
(स) भामह                                   (द) पंडित राज जगन्नाथ

 

Q. 19. रसगंगाधर' ग्रंथ के रचयिता हैं ?
(अ) विश्वनाथ                       (ब) भरतमुनि
(स) मम्मट                           (द) पंडितराज जगन्नाथ

 

Q. 20. निम्न में से कौन सा वक्रोक्ति का भेद नहीं है ?
(अ) वर्ण विन्यास वक्रता                (ब) पद पूर्वार्ध वक्रता
(स) प्रबंध वक्रता                          (द) शब्द वक्रता

 

Q. 21. किस आचार्य ने शब्दालंकारों को काव्य, अर्थालंकारों को मध्यम काव्य तथा गुणीभूत व्यंग्य और ध्वनि को क्रमशः उत्तम और उत्तमोत्तम कहा है ?
(अ) मम्मट 
(ब) विश्वनाथ
(स) भामह
(स) आनंदवर्धन

 

Q. 22. निम्नलिखित में से डॉ नगेंद्र का ग्रंथ कौन सा है -
(अ) रस मीमांसा                          (ब) रस सिद्धांत
(स) रसज्ञ रंजन                           (द) साहित्य दर्पण

 

Q. 23. ध्वनि के विविध प्रकार निम्न में से कौन से हैं -
(अ) वस्तु, अलंकार और रस
(ब) भाव, कल्पना और अलंकार
(स) अलंकार, रस और कल्पना
(द) बुद्धि, भाव और अलंकार

 

Q. 24. अभिनवगुप्त गुप्त का रस निष्पत्ति विषयक मत कहलाता है - 
(अ) अनुमतिवाद
(ब) अभिव्यक्तिवाद
(स) उत्पत्तिवाद
(द) भुक्तिवाद

 

Q. 25. आश्रय कि वे सूक्ष्म मानसिक क्रियायें, जो स्वयं उत्पन्न होती है, चाहने पर भी रोकी नहीं जा सकती, कहलाती हैं ?
(अ) कायिक अनुभाव
(ब) सात्त्विक अनुभाव
(स) वाचिक अनुभाव
(द) आहार्य अनुभाव

 

Q. 26. "भावकत्वं साधारणीकरणं" उक्त परिभाषा किसकी है -
(अ) आचार्य शंकुक
(ब) भट्ट नायक
(स) अभिनवगुप्त
(द) भट्ट लोल्लट

 

Q. 27. चित्र-तुरंग-न्याय की अवधारणा का उपयोग किस आचार्य ने रस निष्पत्ति की व्याख्या में किया है ?
(अ) भट्ट नायक
(स) शंकुक
(द) भट्ट लोल्लट

 

Q. 28. आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार साधारणीकरण किसका होता है ?
(अ) कवि की अनुभूति का
(ब) सहृदय सामाजिक के चित्त का
(स) आलंबन धर्म का
(द) विभावादि का

 

Q. 29. "हिमाद्रि तुंग श्रृंग से प्रबुद्ध शुद्ध भारती, स्वयं प्रभा समुज्ज्वला स्वतंत्रता पुकारती।" उपरोक्त पंक्तियों में कौन सा रस है ?
(अ) भयानक रस                              (ब) वीर रस
(स) अद्भुत रस                                 (द) विभत्स रस

 

Q. 30. आश्रय की वे चेष्टाएं, जिनसे उसके हृदयगत भावों की सूचना प्राप्त हो, क्या कहलाती है ?
(अ) विभाव
(ब) अनुभाव
(स) संचारी भाव
(द) स्थायी भाव

 

Q. 31. "तू दयालु दीन हौं तू दानि, हौं भिखारी।
 हौं प्रसिद्ध पातकी, तू पाप-पुंज हारी।।
 उपर्युक्त पंक्तियों में कौन सा रस है ?
(अ) अद्भुत रस
(ब) शांत रस
(स) भक्ति रस
(द) करुण रस

 

Q. 32. 'उच्छिष्ट' शब्द का सही संधि विच्छेद होगा -
(अ) उत् + शिष्ट                            (ब) उत + चिष्ट
(स) उद् + चिष्ट                             (द) उद + शिष्ट

 

Q. 33. निम्नलिखित में व्यंजन संधि का उदाहरण नहीं है ?
(अ) वाड़्मय
(ब) उच्छृंखल
(स) सृष्टि
(द) पुरस्कार

 

Q. 34. निम्नलिखित में कौन सा पद बहुव्रीहि समास का उदाहरण हैै - 
(अ) मुरारी                              (ब) नीलगगन
(स) आजन्म                            (द) त्रिभुवन

 

Q. 35. कौन सा शब्द उपसर्ग से निर्मित नहीं है ?
(अ) अभिशाप                            (ब) अभिभाषण
(स) अभिमान                            (द) अभिन्नता

 

Q. 36. निम्नलिखित शब्दों में प्रत्यय रहित शब्द है -
(अ) सैंधव 
(ब) यादव
(स) किताब
(द) दैत्य

 

Q. 37. निम्न में से संयुक्त वाक्य का चयन कीजिए -
(अ) जो मनुष्य विद्वान होता है, उसका सभी सम्मान करते हैं।
(ब) जो परिश्रम करता है, वही आगे बढ़ता है।
(स) मैं कश्मीर गया था और वहां से फल ले आया।
(द) सेठ जानता है कि नौकरी ईमानदार है।

 

Q. 38. वर्तनी की दृष्टि से कौन सा शब्द शुद्ध है -
(अ) अन्ताक्षरी
(ब) सौंदर्यता
(स) आशिर्वाद
(द) संन्यास

 

Q. 39. निम्नलिखित में से कौन सा शब्द अशुद्ध है -
(अ) पूज्यनीय
(ब) व्यावहारिक
(स) उपर्युक्त
(द) मिष्टान्न

 

Q. 40. निम्नलिखित में से कौन सा शब्द शुद्ध है -
(अ) लघूत्तर                                      (ब) अनुगृहित
(स) लब्धप्रतिष्ठित                               (द) अभिष्ट

 

Q. 41. "रमणीयार्थप्रतिपादक: शब्द: काव्यम्" उक्ति किस आचार्य की है ?
(अ) विश्वनाथ
(ब) मम्मट
(स) भामह
(द) पंडितराज जगन्नाथ

 

Q. 42. आचार्य दंडी ने काव्य-हेतु किसे माना है ?
(अ) निपुणता                              (ब) प्रतिभा
(स) जीवनेच्छा
(द) प्रतिभा, शास्त्र ज्ञान, अभ्यास

 

Q. 43. कौन से आचार्य ने चतुर्वर्ग की प्राप्ति को काव्य का प्रयोजन माना है ?
(अ) भामह                                  (ब) वामन
(स) आनंदवर्धन                             (द) कुंतक

 

Q. 44. जिस काव्य में केवल किसी एक घटना या अनुभूति का सरस वर्णन होता है, वह कहलाता है ?
(अ) गद्यगीत
(ब) महाकाव्य
(स) खंडकाव्य
(द) गीतिनाट्य

 

Q. 45. भारतीय काव्यशास्त्र का प्राचीनतम ग्रंथ है ?
(ब) काव्यालंकार
(स) ध्वन्यालोक
(द) काव्यादर्श

 

Q. 46. "कविता और छंद में घनिष्ठ संबंध है। कविता हमारे प्राणों का संगीत है ; छंद हृदय कंपन ; कविता का स्वभाव ही छंद में लयमान होता है।" उक्त कथन किसका है ?
(अ) आचार्य रामचंद्र शुक्ल            (ब) डॉ नगेंद्र
(स) महादेवी वर्मा                        (द) सुमित्रानंदन पंत

 

Q. 47. "छंदशास्त्र" ग्रंथ के रचयिता हैं ?
(अ) क्षेमेन्द्र
(ब) वेदव्यास
(स) पिंगल
(द) वाल्मीकि

 

Q. 48. भारतीय काव्यशास्त्र में अनुकरण शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग मिलता है ?
(अ) रामायण में                        (ब) नाट्यशास्त्र में
(स) अष्टाध्यायी में                     (द) साहित्य दर्पण में

 

Q. 49. गुरु - शिष्य परंपरा का सही अनुक्रम छांटिए -
(अ) प्लेटो - अरस्तु सिकंदर
(ब) सिकंदर - प्लेटो - अरस्तु
(स) प्लेटो - सिकंदर - अरस्तु
(द) अरस्तु - प्लेटो - सिकंदर

 

Q. 50. निम्न में से कौन से प्लेटो की रचना नहीं है ?
(अ) पेरिपोइतिकेस
(ब) इओन
(स) रिपब्लिक
(द) पोलितेइया

 

Q. 51. अरस्तु का काव्यालोचन ग्रंथ कौन सा है ?
(अ) पेरिपोइतिकेस             (ब) पेरिइप्सुस
(स) प्रोलितेरियन                  (द) बायोग्राफिया लिटरेरिया

 

Q. 52. "ट्रैजेडी का लेखक हमारे विवेक को नष्ट कर हमारी वासनाओं को जागृत करता हैं, उनका पोषण करता है। अतः काव्या का सत्य वास्तविक सत्य नहीं होता।" यह कथन है -
(अ) अरस्तु
(ब) कॉलरिज
(स) प्लेटो
(द) लोंजाइनस

 

Q. 53. अरस्तु के अनुकरण सिद्धांत में अनुकरण का आश्य है ?
(अ) प्रकृति की नकल                (ब) पुनः सर्जन
(स) नकल                               (द) वस्तुपरक अंकन

 

Q. 54. काव्य को प्रकृति की अनुकृति किसने माना है ?
(अ) अरस्तु                                   (ब) प्लेटो
(स) इलियट                                   (द) वर्ड्सवर्थ

 

Q. 55. "चित्रकार अथवा किसी अन्य कलाकार की तरह कवि भी अनुकर्ता है।" कथन है ?
(अ) रिचर्ड्स                                      (ब) प्लेटो
(स) अरस्तु                                        (द) इलियट

 

Q. 56. निम्नलिखित दार्शनिकों के विचारों में से कौन सा विचार असंगत है -
(अ) प्लेटो - बौद्धिक आनंद को स्वीकार किया है, ऐन्द्रिक आंनद को नहीं।
(ब) अरस्तु - प्राकृतिक पदार्थ परमात्मा द्वारा उद्भुत है।
(स) क्रोंचे - कविता सौंदर्य के माध्यम से तात्कालिक आनंद्रोद्रेक के लिए भावों को उद्वेलित करती है।
(द) लोंजाइनस - साहित्य का संबंध तर्क से नहीं, कल्पना द्वारा पाठक को अभिभूत करना है।

 

Q. 57. अरस्तु के अनुकरण सिद्धांत में किस की उपेक्षा मिलती हैै- 
(अ) कल्पना की
(ब) कवि की अंतश्चेतना की
(स) कवि कर्म की
(द) कवि कौशल की

 

Q. 58. आई ए रिचर्ड्स की पुस्तक 'प्रैक्टिकल क्रिटिसिज्म' में अर्थ का कौन सा प्रकार नहीं है ?
(अ) वाच्यार्थ                                    (ब) भाव
(स) अभिप्राय                                   (द) कला

 

Q. 59. टी एस इलियट ने अवैयक्तिक काव्य सिद्धांत का प्रतिपादन अपने कौन से निबंध में किया है ?
(अ) ट्रेडीशन एंड इंडिविजुअल टैलेंट
(ब) द सेक्रड वुड
(स) एब्स्ट्रेक्ट क्रिटिसिजम
(द) द परफेक्ट क्रिटिक

 

Q. 60. टी एस इलियट ने काव्य में कवि - व्यक्तित्व के स्थान पर स्थापित किया है ?
(अ) परंपरा और इतिहास बोध को
(ब) कल्पना को
(स) अलंकार युक्त बिम्बों को
(द) प्रौढ़ भाषा को

 

Q. 61. "हंस जो रहा सरीर महं, पांख जरा, गा भागि।" इस पंक्ति में 'हंस' का अर्थ है -
(अ) बुद्धि                                        (ब) हंस
(स) पक्षी                                         (द) जीव

 

Q. 62. निम्नलिखित कवियों एवं उनके समक्ष अंकित पंक्तियों में से कौन सा युग्म असंगत है ?
(अ) जायसी - "चढ़ा अषाढ़, गगन घन गाजा।"
(ब) सूरदास - "भज मन ! चरण - कंवल अविनासी।"
(स) कबीर - "अंषड़िया झाईं पड़ी, पथ निहारि - निहारि।"
(द) बिहारी - "अजौं तारयौना ही रह्यो, श्रुति सेवत इक - रंग।"

 

Q. 63. "पिउ - बियोग अस बाउर जीऊ" पंक्ति में 'बाउर' शब्द का अर्थ है -
(अ) विधवा
(ब) ग्रामीण स्त्री
(स) पगली
(द) रुग्ण स्त्री

 

Q. 64. जो पै चेराई राम की करतो न लजातो।" पंक्ति में 'चेराई'  शब्द का अर्थ है -
(अ) सेवा
(ब) चापलूसी
(स) मोह
(द) प्रेम

 

Q. 65. भक्ति - रस का पूर्ण परिपाक जैसा 'विनयपत्रिका' में देखा जाता है, वैसा अन्यत्र नहीं।" यह कथन है -
(अ) आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेद
(ब) आचार्य रामचंद्र शुक्ल
(स) डॉ. नगेंद्र                                    (द) वियोगीहरि

 

Q. 66. निम्नलिखित में से कौन सी रचना तुलसीदास की नहीं है -
(अ) बरवै रामायण                (ब) वैराग्य संदीपनी
(स) दोहावली                       (द) चित्रावली

 

Q. 67. निम्नलिखित में से कौन रीतिसिद्ध काव्यधारा का कवि है -
(अ) केशव 
(ब) चिंतामणि
(स) बिहारी
(द) घनानंद

 

Q. 68. "निकी दई अनाकनी, फीकी परी गुहारी। तज्यौ मनौ तारन - बिरदु, बारक बारनु तारि।।" बिहारी के दोहे में व्यक्त भाव है -
(अ) श्रृंगार                                (ब) नीति
(स) भक्ति                                (द) प्रकृति-चित्रण

 

Q. 69. "तो पर वारौं उरबसी, सुनि राधिके सुजान। तू मोहन के उरबसी, है उरबसी - समान।" प्रस्तुत दोहे में अलंकार है -
(अ) श्लेश                                   (ब) रूपक
(स) यमक                                  (द) उपमा

 

Q. 70. "लोग हैं लागि कवित्त बनावत, मोहिं तौं मोर कवित्त कबित्त बनावत।" पंक्ति किसकी है -
(अ) बोधा
(ब) द्विजदेव
(स) ठाकुर
(द) घनानंद

 

Q. 71. "वहै मुसक्यानि, वहै मृदु बतरानि, वहै लड़कीली बानि आनि उर में अरति हैं।" इन पंक्तियों में वियोग की कौन सी दशा है ?
(अ) चिंता                                   (ब) स्मृति
(स) प्रलाप                                  (द) उन्माद

 

Q. 72. निम्नलिखित में से कौन सी रचना घनानंद की नहीं है ?
(अ) इश्कलता
(ब) सुजान हित
(स) वियोग - बेली
(द) रसविलास

 

Q. 73. "चंचल किशोर सुन्दरता की, मैं करती रहती रखवाली। मैं हल्की-सी मसलन हूं, जो बनती कानों की लाली।।" उपर्युक्त काव्यांश में किसका वर्णन किया गया है ?
(अ) श्रद्धा का                                (ब) चिंता का
(स) लज्जा का                               (द) आशा का

 

Q. 74. "ओ जीवन की मरू - मरीचिका, कायरता के अलस विषाद।" काव्यांश में किस भाव का उद्बोधन हुआ है ?
(अ) चिंता
(ब) लज्जा
(स) आनंद
(द) आशा

 

Q. 75. "उज्जवल वरदान चेतना का, सौंदर्य जिसे सब कहते हैं जिसमें अनंत अभिलाषा के सपने सब जगते रहते हैं।" प्रस्तुत पंक्तियां कामायनी के किस सर्ग से उद्धृत है ?
(अ) श्रद्धा सर्ग                             (ब) लज्जा सर्ग
(स) चिंता सर्ग                              (द) आशा सर्ग

 

Q. 76. कामायनी में 'श्रद्धा सर्ग' क्रमानुसार किस क्रम पर है -
(अ) प्रथम                                       (ब) द्वितीय
(स) तृतीय                                       (द) चतुर्थ

 

Q. 77. वर्ड्सवर्थ ने काव्य का प्रतिपाद्य माना है ?
(अ) जनसाधारण का जनजीवन और प्रकृति को
(ब) पौराणिक कथा और ज्ञान को
(स) नायक के चरित्र निर्माण को
(द) ऐतिहासिक आख्यान को

 

Q. 78. "कल्पना मानव - मस्तिष्क की बिम्ब - विधायिनी शक्ति है।" यह कथन किसका है -
(अ) क्रोंचे
(ब) इलियट
(स) वर्ड्सवर्थ
(द) कॉलरिज

 

Q. 79. क्रोचे के अभिव्यंजना के चार स्तरों में से कौन सा स्तर असंगत है ?
(अ) विचार
(ब) अंत: संस्कार
(स) अभिव्यंजना
(द) आनुषंगिक आनंद

 

Q. 80. लोंजाइनस के अनुसार इनमें से कौनसा शैलीगत दोष नहीं है -
(अ) वालेयता
(ब) वागाडम्बर
(स) भावाडम्बर
(द) विपर्यय

 

Q. 81. मार्क्सवादी चिंतन की परंपरा में कौन सा समीक्षक नहीं है ?
(अ) लेनिन
(ब) गोर्की
(स) कॉडवेल
(द) लोरेंस

 

Q. 82. संरचनावाद का जनक माना जाता है ?
(अ) प्लेटो
(ब) सास्यूर
(स) अरस्तू
(द) लेवीस्ट्रास

 

Q. 83. निम्नलिखित में से कौन मार्क्सवादी आलोचक है ?
(अ) डॉ नगेंद्र
(ब) डॉ हजारी प्रसाद द्विवेदी
(स) डॉ रामविलास शर्मा
(द) आचार्य रामचंद्र शुक्ल

 

Q. 84. शैलीवैज्ञानिक आलोचना पद्धति कथ्य के बजाय किस पक्ष पर बल देती है ?
(अ) अलंकारिता पर                    (ब) भाव या रस पर
(स) छंदयोजना पर                     (द) रूप या शिल्प पर

 

Q. 85. देरिदा लेखन को किसका स्त्रोत मानते हैं ?
(अ) दर्शन का                                   (ब) ज्ञान का
(स) भाव का
(द) तमाम सांस्कृतिक कर्म का

 

Q. 86. निम्न में से कौन उत्तर आधुनिकतावादी चिंतक नहीं है -
(अ) एफ आर लिविस                  (ब) फ्रांसुआ ल्योतार
(स) बौद्रिआ                              (द) फ्रेडरिक जेमेसन

 

Q. 87. उत्तर आधुनिकता की संकल्पना हिंदी की किस कहानी में मिलती है ?
(अ) उदय प्रकाश की कहानी - वारेन हेस्टिंग का सांड
(ब) जयशंकर प्रसाद की कहानी - ममता
(स) मुंशी प्रेमचंद की कहानी - कफन
(द) जैनेंद्र की कहानी - एक गौ

 

Q. 88. पृथ्वीराज रासो को प्रमाणिक रचना मानने वाले विद्वान है -
(अ) डॉ गौरीशंकर हीराचंद ओझा
(ब) आचार्य रामचंद्र शुक्ल
(स) कविराज श्यामल दास
(द) मोहनलाल विष्णुलाल पंड्या

 

Q. 89. "मनहुं कला ससभांन, कला सौलह सोबन्निय।" इस पंक्ति में रस है -
(अ) वीर
(ब) श्रृंगार
(स) भयानक
(द) करुण

  

Q. 90. पृथ्वीराज रासो में कितने समय है -
(अ) 59
(ब) 69
(स) 79
(द) 89

 

Q. 91. कबीर को वाणी का डिक्टेटर किसने कहा है ?
(अ) महावीर प्रसाद द्विवेदी
(ब) आचार्य रामचंद्र शुक्ल
(स) हजारी प्रसाद द्विवेदी
(द)  डॉ नगेंद्र

 

Q. 92. कबीर का हठयोग किस साहित्य से प्रभावित है ?
(अ) सिद्ध एवं नाथ साहित्य
(ब) जैन साहित्य
(स) सूफी काव्य
(द) अपभ्रंश साहित्य

 

Q. 93. "बिरह - भुवंगम तन बसै, मंत्र न लागै कोइ। राम बियोगी ना जीवै, जीवै तो बौरा होइ।।" कबीर के इस पद में कौन सा अलंकार है ?
(अ) उपमा
(ब) उत्प्रेक्षा
(स) विभावना
(द) रूपक

 

Q. 94. "कस्तूरी कुंडलि बसै, मृग ढूंढै बन मांहि ऐसै घटि-घटि राम हैं, दुनियां देखैं नांही।।" प्रस्तुत पद में है -
(अ) भावात्मक रहस्यवाद         (ब) शुद्धाद्वैतवाद
(स) अद्वैतवाद                       (द) इनमें से कोई नहीं

 

Q. 95. मीराबाई की उपासना किस भाव की थी ?
(अ) सख्य भाव                              (ब) दास्य भाव
(स) वात्सल्य भाव                          (द) माधुर्य भाव

 

Q. 96. "जहां बैठावे तित ही बैठूं, बेचै तो बिक जाऊं।" इस पंक्ति में मीरां का व्यक्त भाव है -
(अ) उत्साह
(ब) हर्ष
(स) समर्पण
(द) क्षोभ

 

Q. 97. "मैं तो गिरधर के घर जाऊं, गिरधर म्हारो सांचो प्रीतम, देखत रूप लुभाऊं।" इस पद में कौन सा काव्य गुण है ?
(अ) माधुर्य                               (ब) ओज
(स) प्रसाद                                (द) इनमें से कोई नहीं

 

Q. 98. भ्रमरगीत प्रसंग का प्रतिपाद्य है -
(अ) वात्सल्य रस का चित्रण
(ब) गोपियों का विरह वर्णन
(स) सगुण भक्ति की महिमा व निर्गुण का खंडन
(द) कृष्ण की भक्ति

 

Q. 99. "भ्रमरगीत सूरसागर के भीतर का एक सार रत्न है।" यह कथन किसका है ?
(अ) आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
(ब) आचार्य नंददुलारे वाजपेयी
(स) आचार्य रामचंद्र शुक्ल
(द) डॉ नगेंद्र

 

Q. 100. 'सुफलक सुत' का अर्थ है ?
(अ) उद्धव
(ब) कृष्ण
(स) अक्रूर
(द) नंद

 

Q. 101. "काहे को गोपीनाथ कहावत ?" इस पंक्ति में व्यक्त भाव है
(अ) क्षोभ                                   (ब) उत्सुकता
(स) समर्पण                                (द) उपालम्भ

 

Q. 102. कामायनी का प्रकाशन वर्ष है -
(अ) 1935                                       (ब) 1936
(स) 1938                                        (द) 1918

 

Q. 103. वह एक और मनु रहा राम का, जो न थका, जो नहीं जानता दैन्य, नहीं जानता विनय।" काव्यांश में राम की किस विशेषता की ओर संकेत किया गया है -
(अ) दृढ़ निश्चय
(ब) समर्पण
(स) राम की कर्मशीलता
(द) निरंतरता

 

Q. 104. राम की शक्ति पूजा कविता की प्रारंभिक पंक्ति है -
(अ) प्रशमित है वातावरण निमित मुखासंध कमल।
(ब) रघुनायक आगे अवनी पर नवनीत चरण।
(स) उत्तरा ज्यों दुर्गम पर्वत पर नैशान्धकार।
(द) रवि हुआ अस्त ; ज्योति के पत्र पर लिखा अमर।

 

Q. 105. "धिक जीवन को, जो पाता ही आया विरोध" राम का यह कथन किसके जीवन की त्रासदी है -
(अ) राम के                                (ब) भरत के
(स) निराला के                           (द) विभीषण के

 

Q. 106. 'गोदान' का गोबर किस वर्ग का प्रतिनिधित्व करता है -
(अ) सामंतशाही को चुपचाप सहन करने वाले वर्ग का
(ब) रूढ़ि विरोधी नई पीढ़ी के किसान युवक का
(स) रूढ़िवादी परंपरा को मानने वाले वर्ग का
(द) समाज सेवा करने वाले वर्ग का

 

Q. 107. 'गोदान' का कौनसा पात्र प्रेमचंद के प्रगतिशील विचारों का वाहक माना जाता है ?
(अ) होरी                                    (ब) मिस्टर खन्ना
(स) प्रोफ़ेसर मेहता                      (द) ओंकार नाथ

 

Q. 108. डॉ हजारी प्रसाद द्विवेदी द्वारा विरचित निम्नलिखित कृतियों में से कौनसी कृति उपन्यास विधा से संबंधित है नहीं है ?
(अ) चारुचंद्र लेख
(ब) बाणभट्ट की आत्मकथा
(स) अनामदास का पोथा                    (द) कुटज

 

Q. 109. बाणभट्ट की आत्मकथा सर्वप्रथम किस पत्रिका में प्रकाशित हुई ?
(अ) विशाल भारत                     (ब) हंस
(स) रूपाभ                               (द) हिंदी नवजीवन

 

Q. 110. "स्त्री की सफलता पुरुष को बांधने में है, किंतु सार्थकता पुरुष की मुक्ति में है।" बाणभट्ट की आत्मकथा में यह कथन किसका है -
(अ) भट्टिनी
(ब) निपुणिका
(स) महामाया भैरवी
(द) सुचरिता

 

Q. 111. बाणभट्ट की आत्मकथा है - एक -
(अ) प्रेम कथा
(ब) संघर्ष कथा
(स) मनोविज्ञान कथा
(द) जीवन मूल्यों पर आधारित उदात्त प्रेम कथा

 

Q. 112. "आधे-अधूरे" नाटक के मूल कथानक में है -
(अ) पारिवारिक विपन्नता
(ब) प्रेम संबंध
(स) पारिवारिक विघटन, दांपत्य संबंधों में कटुता व रिक्तता
(द) सामाजिक जीवन में आक्रोश एवं हिंसा

 

Q. 113. "आधे-अधूरे" नाटक में पुरुष - एक कौन है ?
(अ) महेंद्रनाथ                              (ब) जुनेजा
(स) सिंघानिया                              (द) जगमोहन

 

Q. 114. निम्नलिखित में से मोहन राकेश का नाटक नहीं है ?
(अ) लहरों के राजहंस
(ब) आषाढ़ का एक दिन
(स) आधे अधूरे
(द) अंधायुग

 

Q. 115. शुक्ल जी के अनुसार दुख के वर्ग में जो स्थान भय का है, वही स्थान आनंद वर्ग में है -
(अ) उत्साह का                              (ब) प्रेम का
(स) साहस का                                (द) भक्ति का

 

Q. 116. आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार श्रद्धा के प्रकार हैं -
(अ) प्रतिभा, शील और साधन    
(ब) प्रेम, दृढ़ता और साधन
(स) सौंदर्य, अनुभव और शील  
(द) प्रतिभा, प्रेम और साहस

 

Q. 117. निम्नलिखित में से किस कहानी का पात्र सुमेलित नहीं है -
(अ) उसने कहा था - लहना सिंह
(ब) कफन - बुधिया
(स) रोज - मालती
(द) परिंदे - महेश्वर

 

Q. 118. मृत्यु के कुछ समय पहले स्मृति बहुत साफ हो जाती है। जन्म भर की घटनाएं एक-एक करके सामने आती हैं। सारे दृश्यों के रंग साफ होते हैं। समय की धुंध बिल्कुल उन पर से हट जाती है। उपर्युक्त गद्यांश किस कहानी से उद्धृत है -
(अ) उसने कहा था                          (ब) कफन
(स) रोज़                                       (द) ममता

 

Q. 119. अज्ञेय की रोज़ कहानी किस अन्य नाम से जानी जाती है -
(अ) पत्नी
(ब) शरणदाता
(स) गैंग्रीन
(द) कविप्रिया

 

Q. 120. "अगर दोनों साधु होते तो उन्हें संतोष और धैर्य के लिए संयम और नियम की बिल्कुल जरूरत न होती। यह तो इनकी प्रकृति थी, विचित्र जीवन था इनका!’’ उपर्युक्त कथन किस कहानी से उद्धत है -
(अ) ममता
(ब) कफ़न
(स) रोज़
(द) परिन्दे

 

Q. 121. 'परिन्दे’ कहानी से नयी कहानी की शुरूआत मानने वाले समीक्षक हैं-
(अ) राजेन्द्र यादव
(ब) आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
(स) नामवर सिंह
(द) डाॅ. नगेन्द्र

 

Q. 122. "दूरसे दबी-दबी सी सुनाई देने वाली गड़गड़ाहट पास जाने पर कर्णभेदी घोष में बदल गई। यहाँ का ताण्डव देखते ही बनता है। चट्टानों पर मानों हजारों मूसल बरस रहे हैं।’’ उपर्युक्त पंक्तियां किस कृति से उद्धृत है ?
(अ) अतीत के चलचित्र
(ब) लद्दाख की यात्रा
(स) स्मृति की रेखाएँ
(द) सौन्दर्य की नदी नर्मदा

 

Q. 123. "सौन्दर्य की नदी नर्मदा’’ यात्रा वृत्तांत का अंतिम पड़ाव है -
(अ) मीठीतलाई से कोलीयाद
(ब) कबीरबड़ से विमलेश्वर
(स) कोलीयाद से भरूंच
(द) केली से शूलपाणेश्वर

 

Q. 124. विक्रम की 7 वीं शताब्दी से 11 वीं शताब्दी तक अपभ्रंश की प्रधानता रही और फिर वह पुरानी हिन्दी में परिणत हो गई।’’ यह कथन किस विद्वान का ?
(अ) सुनीति कुमार चटर्जी     
(ब) चन्द्रधर शर्मा गुलेरी
(स) ग्रियर्सन
(द) धीरेन्द्र वर्मा

 

Q. 125. स्थापना (A) : देवनागरी लिपि में जैसा बोला जाता है, वैसा ही लिखा जाता है।
तर्क (R) : क्योंकि इसमें प्रत्येक उच्चरित वर्ण (ध्वनि) के लिए निश्चित लिपि-चिह्न है और कोई भी वर्ण अनुच्चरित नहीं है।
(अ) A गलत, R सही
(ब) A और R दोनों सही
(स) A सही, R गलत
(द) A और R दोनों गलत

 

Q. 126. इनमें से कौनसा संधि - शब्द नहीं है ?
(अ) ग्रीष्म+ऋतु=ग्रीष्मर्तु
(ब) सत्+नारी=सद्नारी
(स) एक+एक=एकेक
(द) पितृ+उपदेश=पित्रोपदेश

 

Q. 127. किस विकल्प में ’द्वंद्व’ समास नहीं है ?
(अ) रातदिन
(ब) हानिलाभ
(स) मातापिता
(द) परमपिता

 

Q. 128. व्याकरण की दृष्टि से शुद्ध वर्तनी युक्त शब्द कौनसा है ?
(अ) केकई                                    (ब) केकयी
(स) कैकेई                                    (द) कैकेयी

 

Q. 129. मम्मट ने इनमें से किस तत्व को काव्य का प्रयोजन नहीं माना है ?
(अ) अमंगल का नाश
(ब) मित्रसम्मित उपदेश
(स) यश-प्राप्ति
(द) व्यावहारिक ज्ञान की प्राप्ति

 

Q. 130. इनमें 'ध्वनि सिद्धांत' से संबंधित कौनसा कथन सही नहीं है ?
(अ) ध्वनि के दो भेद होते हैं- (१) लक्षणा मूला (२) व्यंजनामूला।
(ब) लक्षणामूला को 'अविवक्षित वाच्य ध्वनि' भी कहते हैं।
(स) लक्षणामूला ध्वनि के दो भेद माने गये हैं।
(द) 'अत्यंत तिरस्कृत वाच्यध्वनि' भी लक्षणमूला का ही एक भेद है।

 

Q. 131.'विनय पत्रिका' के बारे में कौनसा कथन सही नहीं हैै ?
(अ) इसमें कुल 270 पद है।
(ब) इसमें सर्वप्रथम गणेशजी की वंदना की गई है।
(स) यह ब्रजभाषा में लिखी गयी है।
(द) इसकी गणना आत्मनिवेदनपरक गीति काव्य में की जाती है।

 

Q. 132. इनमें संत कबीर से संबंधित कौनसा कथन सही नहीं है ?
(अ) वे निर्गुण ब्रह्म के उपासक थे।
(ब) सत्संग और नाम-स्मरण पर वे बहुत बल देते थे।
(स) वे माया को ईश्वर भक्ति में बाधक मानते थे।
(द) विभिन्न तीर्थों के प्रति उनके मन में श्रद्धा थी।

 

Q. 133. 'नागमती वियोग खण्डड' से संबंधित कौनसा कथन सही नहीं हैै ?
(अ) जायसी ने ’’बारहमासा के रूप में’’ नागमती के वियोग का मार्मिक चित्रण किया है।
(ब) यह वियोग प्रवासजन्य विरह के अंतर्गत आता है।
(स) यह वियोग चैत्र मास से प्रारंभ होता है।
(द) इस खण्ड में पक्षियों के माध्यम से सन्देश भेजने का उल्लेख भी जायसी ने किया है।

 

Q. 134. एक दिन सहसा सिन्धु अपार,
 लगा टकराने नगतल क्षुब्ध।
अकेला यह जीवन निरूपाय,
 आज तक घूत रहा विश्रब्ध।।
कामायनी से उद्धृत इन पंक्तियों के लिए कौनसा कथन सही है ?
(अ) चिंता सर्ग, मनु का आत्म कथन
(ब) श्रद्धा सर्ग, मनु का आत्म परिचय
(स) लज्जा सर्ग, श्रद्धा का कथन
(द) श्रद्धा सर्ग, मनु की श्रद्धा को प्रत्युत्तर

 

Q. 135. आराधन का दृढ़ आराधन से दो उत्तर। राम की शक्तिपूजा में यह कथन किसका है ?
(अ) विभीषण का                     (ब) हनुमान का
(स) जाम्बवान का                    (द) लक्ष्मण का

 

Q. 136. आधे-अधूरे नाटक के बारे में कौनसा कथन सही नहीं है ?
(अ) यह एक मध्यमवर्गीय परिवार से संबंधित नाटक है।
(ब) यह जीवन के वृहत्तर और महत्त्वपूर्ण आयाम से नहीं जुङ पाता।
(स) इसमें पति का नाम महेन्द्र और पत्नी का नाम सावित्री है।  (द) परिवार में पति-पत्नी के अलावा दो लङके और एक लङकी है।

 

Q. 137. "सौंदर्यमलंकार:" उक्ति किस आचार्य की है ?
(अ) भामह
(ब) वामन
(स) मम्मट
(द) रुय्यक

 

Q. 138. रुय्यक किस ग्रंथ के रचयिता हैं -
(अ) काव्यालंकार                    (ब) अलंकार सर्वस्व
(स) कुवलयानंद                     (द) काव्यादर्श

 

Q. 139. निम्नलिखित में से उपमा अलंकार किस पंक्ति में है -
(अ) तट तमाल तरुवर बहु छाये।
(ब) मानहुं मदन दुंदभी दीन्ही।
(स) हे उत्तरा के धन रहो, तुम उत्तरा के पास ही।                 (द) हंसने लगे तब हरि अहा ! पूर्णेन्दु-सा मुख खिल गया।

 

Q. 140. "अंसुवन जल सींचि - सींचि प्रेम - बेलि बोई। अब तो बेलि फैल गई, आणद फल होई।।" इन पंक्तियों में प्रयुक्त अलंकार है ?
(अ) उपमा                                  (ब) उत्प्रेक्षा
(स) रूपक                                 (द) अन्योक्ति

 

Q. 141. जहां प्रशंसा के बहाने निंदा की जाए अथवा निंदा के बहाने प्रशंसा की जाए, वहां कौन-सा अलंकार होता है ?
(अ) प्रतीप                             (ब) अर्थान्तरन्यास
(स) असंगति                          (द) व्याज स्तुति

 

Q. 142. किस अलंकार में वाच्यार्थ और व्यंग्यार्थ प्रधान होता है ?
(अ) वक्रोक्ति
(ब) समासोक्ति
(स) अन्योक्ति
(द) अतिशयोक्ति

 

Q. 143. नीकि पै फीकी लगे, बिना अवसर की बात। जैसे बरनत जुद्ध में, नहिं सिगार सुहात।। उक्त पंक्तियों में प्रयुक्त अलंकार है ?
(अ) अन्योक्ति                                    (ब) दृष्टांत
(स) उदाहरण                                   (द) उपमा

 

Q. 144. निम्न में से विभावना अलंकार किस पंक्ति में है ?
(अ) तंत्री-नांद, कवित्व-रस, सरस-राग, रति-रंग। अन - बूड़े बूड़े, तरे जे, बूड़ेसब अंग।।
(ब) मुनि तापस जिन तें दुख लहहीं। ते नरेस बिनु पावक दहहीं।।
(स) अवधेस के बालक चारि सदा। तुलसी मन-मंदिर में बिहरें।।  (द) नर की अरु नल - नीर की, गति एकै करि जोड़। जेतौ नीचो ह्वै चले, तेतौ ऊंचौ होइ।।

 

Q. 145. "कंकन किंकिन नूपुर धुनि सुनि। कहत लषन सन राम हृदय गुनि।।" उक्त पंक्तियों में प्रयुक्त छंद का नाम बताइए ?
(अ) रोला
(ब) दोहा
(स) चौपाई
(द) सोरठा

 

Q. 146. किस छंद के प्रत्येक चरण में 24 मात्राएं और 11 और 13 मात्राओं पर यति होती है ?
(अ) रोला
(ब) हरिगीतिका
(स) गीतिका
(द) छप्पय

 

Q. 147. या लकुटी अरु कामरिया पर राज तिहूं पुर को तजी डारौं। आठहुं सिद्धि नवों निधि को सुख नंद की गाय चराय बिसारौं।। इन पंक्तियों में कौन सा छंद है ?
(अ) दोहा                                  (ब) सोरठा
(स) कवित्व                               (द) सवैया

 

Q. 148. ३१ या इससे अधिक वर्णों के चरण वाला छंद कहलाता है ?
(अ) मंदाक्रांता                            (ब) वसंततिलका
(स) कवित्व                               (द) सवैया

 




Q. 149. इस तन का दीवा करौं, बाती मेलौं जीव। लोही सींचों तेल ज्यौं, तब मुख देखौं पीव।। प्रस्तुत उदाहरण किस छंद का है ?
(अ) चौपाई                                       (ब) रोला
(स) दोहा                                         (द) गीतिका

 

Q. 150. चिरजीवौ जोरी जुरे, क्यों न सनेह गंभीर। को घटि ये वृषभानुजा, वे हलदर के वीर।। इन पंक्तियों में व्यंजना का कौन सा भेद मिलता है ?
(अ) शादी व्यंजना
(ब) आर्थी व्यंजना
(स) रस व्यंजना
(द) वस्तु व्यंजना